क्या सोलर पैनल के लिए मेरा घर सही है? 

Solar-Panel-Home-Genus-1280x596.jpg

निरन्तर बिजली की बढ़ती कीमतों के कारण दुनियाभर में सौर ऊर्जा की ओर लोगों का रुझान बढ़ रहा है। भारत में भी केंद्र और राज्य सरकारें लोगों को सौर ऊर्जा के प्रति जागरूक करने के लिए नए कदम उठा रही हैं। लोगों ने व्यक्तिगत तौर पर भी सौर ऊर्जा की महत्ता को समझना शुरू कर दिया है और अपने घरों, ऑफिसों आदि में सौर ऊर्जा से उत्त्पन्न बिजली का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। भारत में गाँवों से लेकर शहरों तक सौर ऊर्जा का प्रचलन निरंतर बढ़ रहा है और लोगों ने अपने घरों में सौर ऊर्जा पर चलने वाले सोलर पैनल लगाना शुरू कर दिया है।  सौर ऊर्जा से बिजली उत्त्पन्न करने से आप न केवल अपने पैसे बचाते हैं बल्कि पर्यावरण को दूषित होने से बचाने की दिशा में महत्त्वपूर्ण कदम भी उठाते हैं। सौर ऊर्जा से उत्त्पन्न बिजली का लाभ उठाने के लिए सौर ऊर्जा के प्रति आपकी जागरूकता ही पर्याप्त नहीं है बल्कि सोलर पैनल का इस्तेमाल कर पाना आपके घर पर भी निर्भर करता है। सोलर पैनल का चुनाव करने से पहले आपको यह जानना होगा कि वाकई आपका घर सोलर पैनल के लिए आदर्श घर है भी या नहीं।

आईये जानते हैं कि घरों में सोलर पैनल लगाने के लिए क्या ज़रूरी है:

1 . घर का स्थान

किसी भी घर में सोलर पैनल लगाने के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी होता है कि आपका घर कैसे स्थान पर है और वहां सूर्य की किरणें कितनी मात्रा में आती हैं। सोलर पैनल में सूर्य की किरणों से ही बिजली उत्त्पन्न की जाती है तो घर के आस-पास बड़े पेड़ और ऊँची बिल्डिंग होने के कारण सूर्य की किरणें बाधित हो सकती हैं। सूर्य की किरणें बाधित होने से बिजली उत्पादन में कमी आ सकती है और आपकी घरेलू ज़रूरतों को पूरा करने के लिए पर्याप्त बिजली उत्त्पन्न नहीं हो पायेगी। अगर आप अपने घर में पैनल लगवाना चाहते हैं तो आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका घर ऐसे स्थान पर ही हो जहाँ पर्याप्त मात्रा में सूरज की किरणें पहुँच सकें।

2 . छत की दिशा 

सोलर पैनल लगाने के लिए यह भी जानना ज़रूरी होता है कि आपके घर की छत किस दिशा में है। सोलर पैनल यूनिट लगाने के लिए छत दक्षिण दिशा में होनी चाहिए और अधिकतम बिजली उत्पादन के लिए छत का समतल होना भी ज़रूरी है जहाँ चिमनी, ऊँची बिल्डिंग, बड़े पेड़ या एंटीना आदि के कारण कोई बाधा उत्त्पन्न न हो। अगर आपके घर में सोलर पैनल लगाने के लिए एकमात्र स्थान उत्तर दिशा में ही है तो दुर्भाग्यवश आप अपने घर में सोलर पैनल यूनिट नहीं लगवा पाएंगे क्योंकि सोलर पैनल के लिए सूर्य की अधिकतम किरणों की ज़रूरत होती है।

3. बिजली की खपत

विद्युत उत्पन्न करने के लिए उपलब्ध ऊर्जा स्रोत हर बीतते दिन के साथ महंगे हो रहे हैं जिसके कारण लोगों ने सोलर पैनल को वरीयता देना शुरू कर दिया है। अगर आपकी दैनिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए बिजली की खपत ज़्यादा होती है और बिजली का बिल भी बहुत ज़्यादा आता है तो आप अपने घर में सोलर पैनल लगवा सकते हैं। सौर ऊर्जा प्रचुर ऊर्जा है तो सालों साल तक इसके समाप्त होने की कोई आशंका भी नहीं है। ऐसे में अपनी दैनिक ज़रूरतों को पूरा करने के लिए सोलर पैनल लगवाना एक अच्छा विचार हो सकता है। सोलर पैनल से न केवल बिजली का बिल कम होता है बल्कि अन्य ऊर्जा स्रोत की तुलना में सौर ऊर्जा के उपयोग से न्यूनतम प्रदूषण होता है।

अगर आपका घर ऊपर बताये गए मापदंडों को पूरा करता है तो आप आसानी से सोलर पैनल लगवा सकते हैं। सोलर पैनल लगवाने में शुरुआती खर्चे के अलावा इसकी रख-रखाव में कोई खास खर्च नहीं करना पड़ता है। यह आपके लिए बहुत सस्ता साबित हो सकता है और साथ ही आपको बिजली के बढ़ते बिल की चिंता भी नहीं करनी पड़ेगी। सोलर पैनल लगवाने के लिए ऊपर बताये गए बिंदुओं के अलावा विशेषज्ञों से सुझाव लेना भी बहुत ज़रूरी होता है क्योंकि इस क्षेत्र में विशेषज्ञों के सलाह के बिना कोई निर्णय लेना आपके लिए फायदेमंद नहीं होगा। अगर आप इन सब बातों को ध्यान में रखकर सोलर पैनल लगवाएंगे तो आपको बिजली के बिल से घबराने की ज़रूरत नहीं होगी और आप पर्यावरण को सुरक्षित रखने में भी अपना महत्त्वपूर्ण योगदान दे पाएंगे।

 

Some Related Post You May Be Interested-

  1. सोलर पैनल से पैसे कैसे बचाएं? जानने के लिए पढ़ें 
  2. What are the 5 benefits of solar for your home?
  3. Thinking of Solar Installation? Here are 7 Things You Must Know