क्यों सोलर सिस्टम आपके घर और बिज़नेस के लिए है फ़ायदेमंद?

solar-home-setup-2.jpg

बिजली, पेट्रोल, और डीज़ल की बढ़ती क़ीमत के साथ साथ प्रदूषण की गंभीर समस्या से चिंतित लोग ऊर्जा के लिए विभिन्न विकल्पों का इस्तेमाल कर रहे हैं। नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों में से सौर ऊर्जा विद्युत उत्पन्न करने का बेहतरीन स्रोत है जिसका इस्तेमाल विभिन्न तरीक़ों से किया जा सकता है। वर्तमान में लोग पर्यावरण के प्रति अधिक चिंतित हो गए हैं तथा घर और बिज़नेस आदि में भी सौर ऊर्जा से उत्पन्न विद्युत का इस्तेमाल करते हैं। भारत में अधिकांश बिजली का उत्पादन कोयले से होता है और यह माना गया है कि आने वाले सालों में कोयले के भंडार समाप्त हो जाएँगे। भारत में अधिकतर आबादी गाँवों में रहती है और कई गाँव ऐसे भी हैं जहाँ लोग आज भी बिजली की मूलभूत सुविधा से वंचित हैं। यही समय है कि देश में ऊर्जा की आवश्यकताओं की बढ़ती माँग को पूरा करने के लिए हम सौर ऊर्जा जैसे ऊर्जा स्रोत का इस्तेमाल शुरू करें। सौर ऊर्जा से उत्पन्न बिजली का इस्तेमाल करने से आप बिजली का बिल तो कम कर ही सकते हैं साथ ही स्वच्छ एवं हरित ऊर्जा स्रोत से आप प्रदूषण कम करने में भी बेहतर योगदान दे सकते हैं। घरों के साथ साथ आजकल विभिन्न क्षेत्रों में भी लोग सौर ऊर्जा का इस्तेमाल कर रहे हैं।

यहाँ हम आपके बिज़नेस और घर के लिए सौर ऊर्जा के फ़ायदों के बारे में बताएँगे।

  1. स्वच्छ एवं नवीकरणीय ऊर्जा का स्त्रोत 

 सौर ऊर्जा स्वच्छ एवं नवीकरणीय ऊर्जा स्रोत है। भारत की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि यहाँ लाभप्रद दवं अधिकतम सौर ऊर्जा का उत्पादन होता है। सौर ऊर्जा के इस्तेमाल से आप बिजली उत्पन्न करने के लिए तेल, कोयला एवं गैस आदि पर निर्भरता से निजात पा सकते हैं। इस तरह के जीवाश्म हानिकारक पदार्थों का उत्सर्जन करते हैं जिससे वायु, पानी एवं मिट्टी आदि की गुणवत्ता पर दुष्प्रभाव पड़ता है तथा इससे वैश्विक तापमान में भी वृद्धि होती है। सौर ऊर्जा से कोई प्रदूषण नहीं होता है। धरती पर अत्यधिक मात्रा में सूरज की उपलब्ध हैं तथा सौर ऊर्जा से बिजली उत्पन्न करने में ओज़ोन परत या पर्यावरण को कोई नुकसान भी नहीं होता है।

  1. बिजली के बिल में कटौती 

अपने घर या बिज़नेस में सौर ऊर्जा से उत्पन्न बिजली का इस्तेमाल करके आप बिजली के बिल में भारी कटौती कर सकते हैं। सौर ऊर्जा की मदद से आपको पूरे साल निर्बाधित बिजली एवं अधिकतम बचत मिलेगी। साथ ही अगर आप खपत से अधिक बिजली का उत्पादन करते हैं तो बिजली का बिल घटाने के अलावा ख़त्म भी कर सकते हैं। केंद्र एवं राज्य सरकारों की विभिन्न परियोजनाओं के तहत कई इलाक़ों में आप बची हुई बिजली पावर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी जैसे डिस्कॉम को दे सकते हैं।

  1. बेहतर रिटर्न ऑन इन्वेस्टमेंट 

 केंद्र एवं राज्य सरकारों द्वारा विभिन्न परियोजनाओं के माध्यम से आप अपने घरों एवं बिज़नेस में सौर पैनल लगवाकर इसकी क़ीमतों में भारी कटौती पा सकते हैं। एक बार सौर पैनल लगवाने के बाद आप लंबी अवधि की बचत तो करते ही हैं साथ ही अगर आप अधिक बिजली उत्पन्न कर रहे हैं तो आप वो बिजली पावर डिस्ट्रीब्यूशन कम्पनी को भी बेच सकते हैं।

  1. सस्ता एवं टिकाऊ विकल्प 

किसी भी बिज़नेस या घर को चलाने में अत्यधिक ख़र्च उठाना पड़ता है और साथ ही पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों की बढ़ती क़ीमत के कारण इस ख़र्च में भी इज़ाफ़ा हो रहा है। ऐसे में अपने घरों और बिज़नेस में सोलर पैनल लगवाकर आप यह ख़र्चे कम कर सकते हैं। सोलर पैनल लगवाने के बाद उसकी मरम्मत एवं देखभाल में न्यूनतम ख़र्च आता है। एक बार सोलर पैनल लगवाकर आप 25 से 40 सालों तक विद्युत संबंधी ज़रूरतों को पूरा कर सकते हैं।

  1. विद्युत पर आपका नियंत्रण  

 भारत में बिजली कटौती की समस्या बहुत आम है। भले ही पिछले कुछ वर्षों में यह समस्या पहले से बेहतर हुई है लेकिन अभी भी लोग ऐसे इलाकों में रहते हैं जहाँ उन्हें बिजली कटौती की समस्या से जूझना पड़ता है। ऐसे में उन्हें डीज़ल से चलने वाले जेनरेटर का इस्तेमाल करना पड़ता है जो पर्यावरण एवं मानव स्वास्थ्य दोनों के लिए बहुत हानिकारक है। ऐसे में घरों या ऑफ़िस में सौर पैनल लगाने से आप अपनी खपत एवं ज़रूरत के अनुसार विद्युत उत्पन्न कर सकते हैं। निजी सौर पैनल से विद्युत उत्पन्न करने से आपको ग्रिड से मिलने वाली बिजली पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा तथा सौर ऊर्जा से विद्युत उत्पन्न करके आप पर्यावरण को संभावित नुकसान से बचा सकते हैं।

इन सभी फ़ायदों को ध्यान में रखकर आप अपने घर एवं बिज़नेस में सौर ऊर्जा से उत्पन्न विद्युत का इस्तेमाल कर सकते हैं तथा प्रदूषण कम करने में अपना महत्त्वपूर्ण योगदान भी दे सकते हैं। भारत में सौर ऊर्जा के प्रति जागरूकता एवं उसका इस्तेमाल बढ़ाने के लिए विभिन्न परियोजनाओं की शुरुआत की गई है और आप भी इन परियोजनाओं का लाभ उठा सकते हैं।

Related Blog:

सौर ऊर्जा के बारे में रोचक तथ्य – Clik here