अपने यूपीएस का बैकअप कैसे बढ़ाएं | इन्वर्टर चार्ज समस्या

अपने यूपीएस का बैकअप कैसे बढ़ाएं?

Genus-UPS.jpg

भारत के छोटे शहरों में निवास करने वाले लोगों के लिए इन्वर्टर बहुत अहम भूमिका निभाता है, खासतौर पर उन शहरों में जहाँ पावर कट की समस्या अधिक रहती है। किसी भी इन्वर्टर की महत्ता तभी है, जब उसकी बैटरी लंबी चले। क्योंकि इन्वर्टर की लम्बी उम्र और दक्षता बैटरी पर ही निर्भर करती है। इसलिए जरूरी रहता है कि आप अपनी इन्वर्टर बैटरी की नियमित साफ़-सफाई और जरूरत पड़ने पर मरम्मत करवाएं। घर में इस्तेमाल होने वाले किसी भी अन्य उपकरण की ही भांति इन्वर्टर की बैटरी को भी नियमित रूप से देखभाल की आवश्यकता होती है। भले ही यूपीएस से आपके घर की सजावट न बढ़ती हो, लेकिन एक अच्छा यूपीएस ही बिजली जाने पर आपके बिजली उपकरणों को चलनशील रखता है। इसलिए जरूरी है कि आप अन्य उपयोगी उपकरणों की ही भांति इसका भी ख्याल रखें और फिर भी अगर आपकी बैटरी चार्ज नही हो रही है या इन्वर्टर चार्ज समस्या है, तो आईये जानते हैं कि आप इन्वर्टर समस्याओं से कैसे मुक्त रह सकते हैं।

1. यूपीएस को हवादार जगह पर रखें

जब आप अपने घर में इन्वर्टर लगवाते हैं तो सबसे बड़ी समस्या होती है कि इन्वर्टर को किस जगह पर रखना चाहिए ताकि इन्वर्टर लम्बे समय तक बिना किसी परेशानी के चल सके। आमतौर पर इन्वर्टर की बैटरी चार्ज होते समय गर्म हो जाती हैं। इसलिए आपको इन्वर्टर को सदैव ऐसी जगह पर ही रखना चाहिए जहाँ हवा की पर्याप्त उपलब्धता हो। हवादार जगह पर रखने से यह अधिक गर्म नहीं होता और बैटरी चार्ज संबंधित समस्या भी नही देता।

Also Read: इन्वर्टर खरीद रहे हैं तो रखें इन बातों का ख्याल

2. बैटरी का पूरा इस्तेमाल करें

अगर आप अपने यूपीएस का बैकअप बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको बैटरी को पूरी तरह से डिस्चार्ज होने तक इस्तेमाल करना चाहिए। विशेषज्ञों का सुझाव है कि अगर आप ऐसी जगह पर रहते हैं, जहाँ लम्बे समय के लिए पावर कट नहीं होता है तो भी आपको अपने यूपीएस को महीने में एक बार पूरी तरह से डिस्चार्ज करना चाहिए और दोबारा चार्ज करने के बाद ही इस्तेमाल करना चाहिए।

3. बैटरी के जल-स्तर की जाँच करें

अपने यूपीएस की दक्षता और बैकअप बढ़ाने के लिए आपको हर दो महीने में बैटरी के जल स्तर की जाँच करनी चाहिए। आपको यह सुनिश्चित करना है कि बैटरी का जल स्तर हमेशा न्यूनतम एवं अधिकतम के बीच ही रहना चाहिए। अक्सर लोग बैटरी में साधारण पानी या बारिश का पानी डाल देते हैं, लेकिन ऐसा करना आपके यूपीएस की दक्षता कम कर सकता है। यूपीएस का बैकअप बढ़ाने के लिए आपको हमेशा डिस्टिल्ड पानी का ही इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि अन्य किसी भी पानी में प्रदूषण तत्त्व एवं मिनरल होते हैं। इससे बैटरी खराब होने की सम्भावना बढ़ जाती है। आपको हर 2 महीनों में जल स्तर की जाँच करनी चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि बैटरी में पर्याप्त मात्रा में पानी रहे।

4. इन्वर्टर के टर्मिनल की नियमित सफाई करें

इन्वर्टर बैटरी के टर्मिनल में जंग लगने से भी उसकी दक्षता कम हो जाती है। जिस कारण बैटरी का बैकअप भी हर दिन के साथ बिगड़ता रहता है। जंग बैटरी में करंट के प्रवाह को धीमा कर देता है और बैटरी प्रभावशाली ढंग से काम नहीं कर पाती है। बैटरी की दक्षता बरकरार रखने के लिए बैटरी के टर्मिनल की नियमित सफाई करना और उसे जंग से बचाना बहुत महत्त्वपूर्ण है। टर्मिनल की सफाई के लिए आप इसे गीले कपड़े से पोंछ सकते हैं और जरूरत पड़ने पर बाहरी हिस्से में तेल भी लगा सकते हैं।

5. ऊर्जा बचाने वाले उपकरणों का इस्तेमाल करें

अपने घर में आपको ऐसे उपकरणों का इस्तेमाल करना चाहिए, जिससे बिजली की खपत न्यूनतम हो और पावर कट के दौरान यूपीएस पर कम से कम लोड पड़े। इसके लिए आप अपने घरों में साधारण बल्ब की जगह सीएफएल या एलईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं। साधारण बल्ब की तुलना में सीएफएल 75 फीसदी कम बिजली की खपत करते हैं। इसी तरह आपको यह भी सुनिश्चित करना होगा कि आपके घर में लगे बिजली वाले पंखों की वायरिंग सही ढंग से हो, क्योंकि खराब वायरिंग वाले पंखे भी अधिक बिजली की खपत करते हैं। 

Also Read: पंखा, बल्ब और टीवी चलाने के लिए कितने वॉट का पैनल और कितने का खर्च आएगा?

6. बैटरी पर अधिक लोड न डालें

बैटरी के समय से पहले खराब होने या फिर उसका बैकअप कम होने का एक मुख्य कारण उस पर क्षमता से अधिक लोड डालना भी होता है। अक्सर हम बैटरी पर उसकी क्षमता से अधिक लोड डाल देते हैं। इससे बैटरी की दक्षता में कमी आती है और बैटरी समय से पहले ही खराब हो जाती है। इसलिए जरूरी है कि बैटरी की क्षमता के अनुसार ही लोड डालें। इससे आपकी बैटरी लंबे समय तक चलेगी और अच्छा बैकअप भी प्रदान करेगी।

Also Read: The Easy Guide to Choosing the Right Power Backup Solution

अपने यूपीएस बैटरी की नियमित और सही जांच से ही आपको उसकी स्थिति का पता चल सकता। यदि आपके यूपीएस की बैटरी पूरी तरह से खराब हो जाती है, तो आपको उसे तुरंत बदल देना चाहिए। क्योंकि खराब बैटरी का इस्तेमाल करने से दुर्घटना होने की सम्भावना बढ़ जाती है। आशा करते हैं कि इस लेख के माध्यम से बैटरी ज्यादा कैसे चलाएं? जैसे सभी सवालों का उत्तर मिल गया होगा। इन्वर्टर की जानकारी प्राप्त कर ही आप उसकी सही देखभाल कर सकते हैं।